Manor-One
  ब्रेकिंग न्यूज़  
  • पाक में प्रदर्शनकारियों का PTV पर कब्जा,प्रसारण हुआ बंद

     इस्लामाबाद।  पाकिस्तान में जारी राजनीतिक और भी गहरा गयाहै. पाकिस्तान में आंदोलनकारियों ने सरकारी न्यूज़ चैनल पीटीवी (पाकिस्तान टीवी) पर कब्जा कर लिया है.पाकिस्तान में जारी हिंसक आंदोलन से सरकार विरोधी प्रदर्शन तेज होता जा रहा है। जैसे ही इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी और मौलाना ताहिरुल कादरी की पार्टी पाकिस्तान आवामी तहरीक के समर्थकों ने पीटीवी पर कब्जा किया, चैनल का प्रसारण बंद हो गया...

     

    जियो टीवी के संपाकद हामिद मीर का कहना है कि इमरान खान और ताहिरुल कादरी ने कहा था कि प्रदर्शनकारी सरकारी इमारत में दाखिल नहीं होंगे, लेकिन अब इसका खुला उल्लंघन हो रहा है।

     

    सरकार ने बिगड़ते हालात के बीच सेना तलब किया है। दूसरीओर इस्लामाबाद में संसद के बाहर प्रदर्शनकारियों का जमावड़ा हटने का नाम नहीं ले रहा है। इमरान खान और ताहिर उल कादरी के समर्थक संसद के भीतर घुसने की कोशिश कर रहे हैं। पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच कई बार झड़प भी हो चुकी है।

     

    संसद के बाहर पुलिस और अर्धसैनिक बल के जवान तैनात हैं। इस बीच इमरान खान और कादरी ने अपने समर्थकों से संसद के बाहर डटे रहने का ऐलान भी किया है। इस बीच शरीफ सरकार ने विवाद सुलझाने के लिए मंगलवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई है।

     

    'समाचार एजेंसियों के अनुसार, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए आंसू गैस, रबर की गोलियां और लाठीचार्ज का सहारा लिया, जिसमें पांच लोग घायल हो गए। सचिवालय के गेट के बाहर पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ और पाकिस्तान अवामी तहरीक के समर्थक बड़ी संख्या में एकत्र हुए थे।

     

    अधिकारियों के अनुसार, पुलिस की ओर से प्रतिरोध का सामना कर रहे एक प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री आवास के रास्ते में एक कंटेनर को आग लगा दी। पुलिस द्वारा आंसू गैस के गोले और रबर बुलेट्स का उपयोग किए जाने से बौखलाए प्रदर्शनकारियों ने भी पुलिस पर पथराव किया। पीएटी नेता ताहिरुल कादरी ने भी अपना वाहन पाकिस्तान सचिवालय की ओर बढ़ाना शुरू कर दिया है।

     

    यह विरोध-प्रदर्शन 15 अगस्त को पीटीआई प्रमुख इमरान खान और पीएटी प्रमुख कादरी की अगुवाई में नवाज शरीफ को हटाए जाने की मांग को लेकर शुरू हुआ था। शरीफ पर वर्ष 2013 के आम चुनावों में धांधली करने का आरोप है। इमरान और कादरी नवाज से प्रधानमंत्री पद से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

     

  • पाक में विभत्स होता जा रहा हिंसक आंदोलन,सेना का दखल से इनकार

    इस्लामाबाद। पाकिस्तान में चल रहे सरकार विरोधी आंदोलन ने हिंसक रूप अख्तियार कर लिया है। इमरान खान और मौलाना ताहिर-उल कादरी नेप्रधानमंत्री नवाज शरीफ का इस्तीफा होने तक आंदोलन वापस लेने से मना कर दिया है वहीं दुसरी ओर सेना केरुख से भी शरीफ सरकार की मुश्किलें बढ़ गई हैं। पाक की सेना ने दखल देने से इन्कार करते हुए कहा है कि प्रदर्शनकारियों के खिलाफ ताकत का इस्तेमाल करने से हालात और बिगड़ेंगे। सेना ने बिना समय गंवाए इस पूरे मामले के राजनीतिक रूप से समाधान करने की बात कही है।

    राजधानी इस्लामाबाद में शनिवार रात से शुरू हुई हिंसा रविवार को भीबदस्तूर जारी रही। आंदोलन की आग लाहौर समेत देश के अन्य कई हिस्सों में फैलगई है। लाहौर के लिबर्टी चौक और माल रोड पर झड़प में दर्जनों प्रदर्शनकारी घायल हो गए। सियालकोट में रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ के निवास के बाहर इमरान समर्थकों ने पत्थर फेंके।  वहीं मुल्तान में कादरी समर्थकों ने घंटों सड़क जाम रखा। प्रधानमंत्री के आधिकारिक निवास और संसद भवन के आसपास जमा प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए पुलिस को आंसू गैस और रबर की गोलियां दागनी पड़ीं। मौलाना कादरी ने अपने सात समर्थकों के भी मारे जाने का दावा कियाहै। हालांकि, सरकार तीन प्रदर्शनकारियों के ही मारे जाने की पुष्टि कर रहीहै। सरकार विरोधी आंदोलन में अब तक 500 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं।समाचार चैनल जियो टीवी के कार्यालय पर भी हमला किया गया।पुलिस-प्रदर्शनकारियों के बीच भिड़ंत में कई पत्रकारों के भी घायल होने कीखबर है। पुलिस का कहना है कि प्रदर्शनकारियों के हमले में 90 से ज्यादाजवान घायल हुए हैं।

    इस बीच, सेना प्रमुख जनरल राहिल शरीफ ने रावलपिंडी में सैन्य कमांडरों के साथ बैठक कर हालात का जायजा लिया। बैठक के बाद जारी बयान में सेना ने लोकतंत्र में अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हुए समस्या के राजनीतिक समाधान कीबात की है। सेना ने प्रदर्शनकारियों को सख्त संदेश देते हुए शनिवार रात कीहिंसा पर नाखुशी का जाहिर किया है।  पाकिस्तान की सेना ने कहा है कि बहुत जरूरी होने औरलोकतंत्र की रक्षा के लिए ही सेना दखल देगी।

    दूसरी तरफ, नवाज शरीफ भी झुकने को तैयार नहीं हैं। लाहौर गए शरीफ रविवारको इस्लामाबाद लौट आए और उन्होने एक उच्चस्तरीय बैठक की। शरीफ ने मौजूदा सियासी संकटसे निपटने के लिए संसद का संयुक्त सत्र मंगलवार को बुलाने के साथ हीआंदोलनकारी नेताओं को नए सिरे से बातचीत का न्योता भी दिया है। शरीफ ने कहाकि लोकतंत्र के खिलाफ साजिश को सफल नहीं होने दिया जाएगा।

    उधर पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के प्रमुख इमरान खान ने मरते दम तक संघर्ष करने काआह्वान किया। खान ने कहा, 'मैं मरते दम तक इस गैरकानूनी हुकूमत से लड़तारहूंगा।' उन्होंने सभी सरकारी कर्मचारियों, नौकरशाहों और पुलिसकर्मियों से सरकार के खिलाफ विद्रोह करने की अपील की है। इमरान ने कहा, 'हम प्रधानमंत्री नवाज और गृहमंत्री चौधरी निसार खान के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराएंगे।'

    पाक में चल रहे सियासी हलचल में जानते हैं कि

    किसने, क्या-कहा:

    'यह एक छोटा तूफान यानी उपद्रव है, जो कुछ दिनों में खत्म हो जाएगा।'

    -नवाज शरीफ

    'अल्लाह या आजादी या मौत। मैं लोगों की आजादी के वास्ते मरने के लिए तैयार हूं। मरते दम तक संघर्ष करेंगे।'

    -इमरान खान

    'ये लोग हर मायने में भ्रष्ट हैं। देश को लूटना ही इनका धर्म है। इनके खिलाफ संघर्ष में मैं जान की कुर्बानी देने के लिए भी तैयार हूं।'

    -मौलाना ताहिर-उल कादरी

    'ये लोग बंदूक की नोक पर अपनी मांगें मनवाना चाहते हैं। लेकिन इतना कुछ होने के बावजूद बातचीत के लिए हमारा दरवाजा अभी भी खुला है।'

    -परवेज राशिद, सूचना मंत्री पाकिस्तान

  • दोनो देश तय करेंगे 21वीं सदी की दशा और दिशा-मोदी

    टोक्यो । भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 5 दिवसीय जापान के दौरे के तीसरे दिनसोमवार को टोक्यो में जापानके उद्योगपतियों को संबोधित किया। इस मौके परउन्होंनें जहां एक ओर वहां के उद्योगपतियों को भारत में निवेश के लिए प्रोत्साहित किया वहीं उन्होंने जापान से कई चीजों को सीखने की अपेक्षा भी जाहिर की। मोदी ने कहा कि 21 वीं सदी एशिया की होगी, जिसके लिए दशा औरदिशा भारत-जापान मिलकर तैयार करेंगे। मोदी ने इस मंच से गुजरात के विकास मॉडल की भी चर्चा की।

    जापान के उद्योगपतियों के साथ बैठक में उन्होंने भारत में आम जनता सेकिया गया गुड गवर्नेस का वादा निभाने का भी दावा किया। पीएम ने कहा कि सौदिनों की सरकार ने इसकी एक बेहतरीन शुरुआत की है, लेकिन आम जनता कीअपेक्षाएं बहुत हैं जिनपर उन्हें खरा उतरना होगा। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि भारत विश्व का सबसे युवा देश है, क्योंकि यहां पर 60 फीसद से ज्यादा युवा हैं। और इसकी वजह से 2020 में वर्क फोर्स के लिए भारत पर दुनिया की निगाह होगी।

    मोदी ने कहा कि भारत अपने यहां पर जापान की तर्ज पर स्किल डेवलेपमेंट का विकास करना चाहता है। भारत में निवेश को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने सिंगल विंडो की भी बात मंच से कही। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत जापान के साथ मिलकर विभिन्न क्षेत्रों में शोध करने का इच्छुक है। क्योंकि विकास केलिए निरंतर शोध आवश्यक है। मोदी ने इस मौके पर जापान की जनता को वर्षो बाद एक स्थिर सरकार चुनने के लिए बधाई भी दी। उन्होंने कहा कि दोनों देशों में वर्षो के बाद एक स्थिर और एक पार्टी की सरकार बनी है, दोनों देशों में स्थिरता है।

    जापान के उद्योगपतियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि भारत का पिछला दशक काफी कठिनाइयों में गुजरा है। भारत के विकास दर में लगातार गिरावट से देशकी अर्थव्यवस्था को खासा नुकसान हुआ है। लेकिन उनकी सरकार के सौ दिनों के अंदर जो उन्होंने शुरुआती कदम उठाए उसका भी परिणाम अब सामने आने लगे हैं।भारत की विकास दर में तेजी से सरकार की सही नीति और दशा स्पष्ट होती है।इससे हमारा आत्मविश्वास भी बढ़ा है। मोदी ने कहा कि गुजराती होने के नाते उनकेखून में बिजनेसहै। उन्होंने कहा कि 125 करोड़ भारतीय अपने जीवनमें विकास करना चाहते हैं। इस मौके पर मोदी उन दिनों को भी याद करना नहीं भूले जबवह गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर यहां आए थे।

    आज ही द्विपक्षीय सुरक्षा और आर्थिक संबंधों को बढ़ावा देने के लिए पीएम की जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे से वार्ता होगी। जिसके बाद कई समझौतों पर भी हस्ताक्षर किए जाने की भी उम्मीद है। दोनों प्रधानमंत्री आज ही एक संयुक्त प्रेस कान्फ्रेंस भी करेंगे। वहीं मोदी के सम्मान में टोक्यो में अकासका महल में एक समारोह का आयोजन किया जाएगा। मोदी जापान के कई मंत्रियों से भी मुलाकात करेंगे। इसके बाद दोपहर 3 बजे के बाद मोदी के सम्मान में महाभोज का आयोजन भी किया जाएगा।

  • फोर्ब्स की सबसे अमीर खिलाड़ियों की लिस्ट में धोनी l

    भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी फोर्ब्स की सबसे अमीर 100 खिलाड़ियों की सूची में अकेले भारतीय हैं. सूची में अमेरिकी मुक्केबाज फ्लायड मेवेदर शीर्ष पर हैं, जबकि इसमें गोल्फर टाइगर वुड्स और टेनिस स्टार रोजर फेडरर तथा राफेल नडाल भी हैं.

    धोनी की कुल कमाई तीन करोड़ डॉलर (करीब 1 अरब 77 करोड़) और विज्ञापनों से कमाई दो करोड़ 60 लाख डॉलर है. वह सूची में 22वें स्थान पर हैं. फोर्ब्स ने कहा कि वेतन और विज्ञापनों की कमाई के दम पर धौनी की जून 2014 में आय 40 लाख डॉलर रही.

    फोर्ब्स ने कहा, धोनी भारत के सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में से एक हैं. वह आईसीसी के तीनों खिताब जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान हैं. धोनी ने 2013 के आखिर में बल्ले के लिये प्रायोजन करार स्पार्टन स्पोर्ट्स और एमिटी यूनिवर्सिटी से किया जो करीब 40 लाख डॉलर का था. इससे पहले रीबाक के साथ उनके करार से यह दस लाख डॉलर अधिक था. उनकी कमाई में जून 2013 से जून 2014 तक वेतन, बोनस, ईनामी राशि, अपीयरेंस फीस, विग्यापन से कमाई शामिल है.

    मेवेदर ने पिछले एक साल में दस करोड़ 50 लाख डॉलर की कमाई की. इससे वह तीन साल में दूसरी बार दुनिया के सबसे अमीर खिलाड़ी हो गए. रीयाल मैड्रिड के स्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो समेत 15 फुटबालर शीर्ष 100 में हैं. रोनाल्डो की कुल कमाई आठ करोड़ डॉलर रही और वह दूसरे स्थान पर हैं.

    अमेरिकी बास्केटबाल खिलाड़ी लेब्रोन जेम्स तीसरे और अर्जेंटीना के फुटबॉलर लियोनेल मेस्सी चौथे स्थान पर हैं. वुड्स छठे स्थान पर हैं. फेडरर सातवें और नडाल नौवें स्थान पर हैं.


     
  • आधे हिंदुस्तान में छा सकता है अंधेरा

    दिल्ली में बिजली संकट पर जारी घमासान अभी शांत नहीं हुआ है, लेकिन इससे पहले ही उत्तर भारत पर अंधेरे का खतरा मंडराने लगा है। उत्तर भारत को बिजली की सप्लाई करने वाले ज्यादातर पावर प्लांट के पास कोयले की कमी है।
    उत्तर भारत को इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई करने वाले पावर प्लांट में से ज्यादातर के पास सिर्फ 4 से 7 दिनों तक का ही कोयला बचा है। इसकी वजह से नॉर्दर्न ग्रिड के फेल होने का खतरा मंडरा रहा है।
    बिजली सप्लाई करने वाले पावर प्लांट के पास कोयले का कोई स्टॉक नहीं है। 21 पावर प्लांट के पास सिर्फ 4 दिनों का ही कोयला बचा है, जबकि 15 प्लांट के पास सिर्फ 7 दिन का कोयला है।
    देश के ये 36 पावर प्लांट 55 हजार मेगावाट इलेक्ट्रिसिटी प्रड्यूस करते हैं। यह देश की कुल जरूरत का 20 प्रतिशत है। कोयले की कमी से अगर ये प्लांट ठप हो गए तो दिल्ली के साथ-साथ पूरे उत्तर भारत का मौजूदा बिजली संकट और बढ़ सकता है।

    गौरतलब है कि राजधानी दिल्ली में भीषण गर्मी के साथ-साथ बिजली की भारी कटौती से लोग काफी परेशान हैं। आंधी-तूफान के बाद कई जगह ग्रिड में मरम्मत के काम की वजह से बिजली की सप्लाई पर असर पड़ा है। इसको लेकर कई राजनीतिक दल और स्थानीय लोग सड़कों पर विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं। ऊर्जा मंत्री ने कहा है कि इससे निपटने में 2 हफ्ते का समय लगेगा।

 
LIVE NEWS
BIG NEWS
 
Sail city
..PICTURE GALLERY
 
 
व्यापार
शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में गिरावट
मुंबई: देश के प्रमुख शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में बुधवार को गिरावट देखी गई. प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 9.52 बजे 0.89 अंकों की गिरावट के साथ 25,582.80 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय...
बॉलीवुड
...
 
खेल जगत
PICTURE
आपकी राय
बकौल सचिन ट्वंटी-20 फार्मेट ने क्रिकेट को और रोमांचक बना दिया है. क्या आप सहमत हैं?
 
 
प्रादेशिक
विश्वजगत
 
KASHISH NEWS OTHER SERVICES BE CONECTED   LINKS
© 2014 Kasish News. All rights reserved. Developed By : SAM Softech