Manor-One
  ब्रेकिंग न्यूज़  
  • नेपाल में मौत का आंकड़ा 4350 के पार, भूकंप से अबतक 68 बार कांपी धरती, राहत और बचाव युद्धस्तर पर

    काठमांडू। शनिवार की दोपहर नेपाल में आए भूकंप को आज 3 दिन पूरा हो गया है। लेकिन अभी तक वहां ताबड़तोड़ राहत का काम जारी है। शनिवर को आए भूकंप की विनाशलीला ऐसी है कि जिन लोगों ने उसे अपनी आंखों से देखा वे इसको भूल नहीं पा रहे हैं। भूकंप के झटकों से धरती ऐसी डोली थी कि उसे याद करके सबकी रूह कांप जा रही है। मौत को इतने करीब से देखने वाले किसी सामान के हल्के झटकों से भी डर कर घबरा उठ रहे हैं। शनिवार को जो तबाही आयी थी , उस भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7.9 थी। लेकिन शनिवार के बाद से लगातार भूकंप के हल्के झटके नेपाल में आ ही रहे हैं। आज सुबह भी 5 बजकर 5 मिनट पर हल्के झटके महसूस किए गए । शनिवार से लेकर अब तक 68 बार भूकंप के झटकों से धरती कांप उठी है। लगातार आ रहे भूकंप के झटकों से नेपाल के लोगों में जबरदस्त दहशत है क्योंकि नेपाल के काठमांडू में जहां भी नजर जा रही है  वहां सिर्फ तबाही ने निशां ही नजर आ रहे हैं। हर ओर मलबा  ही मलबा और वहां राहत कर्मी बचाव करते हुपए। दूसरी ओर जो लोग बच गए हैं वे अपनों की राह तकते और मलबों के ढ़ेर में उन्हें ढ़ूढ़ते ही नजर आ रहे हैं। नेपाल में आए त्रासदी में मरने वालों की संख्या 4,350 को पार कर चुकी है। लेकिन ऐसी आशंका है कि अभी भी मलबे में हजारों लोग दबे हो सकते हैं।  जबकि आठ हजार से ज्यादा लोग घायल हैं और सैकड़ों लापता बताए जा रहे हैं। वहीं इस आपदा में 13 भारतीयों के भी मारे जाने की खबर मिल रही है। इनमें असम के सात पर्यटक और तेलुगु फिल्मों के 21 वर्षीय कोरियोग्राफर विजय भी शामिल हैं।


    नेपाल के काठमांडू शहर में ऐसी तबाही चारों ओर दिख रही है कि राहत कर्मियों की भी रूह कांप जा रही है। सब इस सोच में पड़ते दिख रहे हैं कि आखिर शुरू कहां से किया जाए और जाने खत्म कब होगा। इससे पहले सोमवार को भी सुबह और शाम के वक्त 5.1 की तीव्रता से 2 झटके महसूस किए गए थे। हालांकि भूकंप का केंद्र पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग स्थित मिरिक में था।  लोग अब खुले में राहत कैंपों में अपना वक्त बिता रहे हैं।   दोबारा भूकंप आने के डर से लाखों लोग सड़कों पर और पार्कों में समय बिता रहे हैं। कंपकंपाती ठंड के बावजूद वे रात के वक्त भी घर लौटने को तैयार नहीं हैं। विनाशकारी भूकंप के बाद लगातार झटके आने से खौफ और बढ़ गया है। सोमवार को भी सुबह और शाम के वक्त 5.1 तीव्रता के दो झटके आए। इससे लोगों में दहशत फैल गई। बाद में पता चला कि इसका केंद्र पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग स्थित मिरिक में था।

    वैसे तो नेपाल में राहत कार्य युद्धस्तर पर चलाया जा रहा है लेकिन मौसम की खराब हालत और बीच - बीच में हो रही बारिश की वजह से बहुत परेशानियां हो रही हैं। वहीं नेपाल में हुए इस तबाही के बाद  संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने नेपाल की मदद के लिए विश्व के सभी देशों से आगे आने की अपील की है। यूएन ने भूकंप से प्रभावित लोगों के आंकड़े पेश किए हैं उसके मुताबिक इससे 80 लाख लोग प्रभावित हुए हैं और 14 लाश लोग ऐसे हैं जिन्हें तुरंत खाना और पानी की जरूरत है।   

    भारत का ऑपरेशन मैत्री जारी

    नेपाल में हुए विनाश में लोगों को राहत पहुंचाने के लिए भारत के साथ ही कई और भी देशों से राहत पहुंचायी जा रही है। भारत की ओर से रेस्क्यू ऑपरेशन मैत्री का काम युद्धस्तर पर जारी है। लेकिन हर बीतते घंटे के साथ जिंदगी की डोर थमती और कमजोर पड़ती हुई नजर आ रही है । चूंकि राहत कार्यों में मौसम की वजह से थोड़ी परेशानी भी हुी । लेकिन अब खोजी कुत्तोें, बेहतर तकनीक के जरिए मलबे में फंसे लोगों को निकालने का काम जारी है। भारतीय सेना और यहां से गए बचाव और मेडिकल टीम पूरी मुस्तैदी से राहत कार्यों में लगे हुए हैं।        

  • नेपाल में आयी त्रासदी पर पूरा संसद हुआ एक, मुलायम सिंह की अपील पर सभी सांसदों ने एक महीने का वेतन राहत में देने की घोषणा की

    नई दिल्ली। नेपाल में भूकंप की त्रासदी से हुई विनाश को देखकर हर कोई दुखी है। जिससे जो भी बन पड़ रहा है वो वहां से मदद के लिए नेपाल में सहयोग कर रहा है। भारत की ओर से भी पूरी तरह से वहां राहत पहुंचायी जा रही है । नेपाल में हुई इस तबाही के बाद भारतीय संसद में भी दुख व्यक्त किया गया। सोमवार को संसद का सत्र शुरू होते ही संसद में 2 मिनट का मौन रखा गया और नेपाल में भूकंप में मारे गये लोगों को श्रद्धांजलि दी गयी। इसके बाद जब संसद की कार्यवाही शुरू ही तो केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में कहा कि भारत की ओर से नेपाल में हरसंभव मदद भेजी जा रही है। संसद में इस मुद्दे पर दोपहर 12 बजे चर्चा शुरू हुई।   गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बिहार, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों द्वारा भूकंप के बाद जल्द से जल्द राहत और बचाव का काम शुरू करने के लिए सराहना करते हुए उनकी प्रशंसा की। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि नेपाल का दर्द हमारा दर्द है। हम नेपाल की हर संभव मदद करेंगे।

    नेपाल में आयी इस त्रासदी को लेकर पूरी संसद एक नजर आयी। मुलायम सिंह यादव ने इस चर्चा के दौरान कहा कि वे अपनी एक माह की तनख्वाह नेपाल राहत कार्य में देने की घोषणा करते हैं। इसके साथ ही उन्होंने बाकी सांसदों से भी पील की कि वो कम से कम  अपनी एक दिन की तनख्वाह को राहत मद में डालें। इस पर सभी सांसद मदद के लिए तैयार हो गए। सभी सांसदों ने कहा कि एक महीने का वेतन नेपाल में भूकंप पीड़ितों की सहायता के लिए देंगे।

    इससे पहले चर्चा के दौरान कई सांसदों ने सदन में भूकंप की स्थिति में उचित प्रबंध न होने की ओर इशारा किया गया। कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि नेपाल में आयी त्रासदी दिल दहला देने वाली है और इस संकट की घड़ी में वे लोगों के साथ हैं।  यहां बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को आये भूकंप के बाद खुद उसकी कमान संभाली और भारत सहित नेपाल में तुरंत राहत भेजने के निर्देश जारी किए । पीएम ने तुरंत बाद आपत बैठक बुलाकर नेपाल में राहत सामग्री और बचाव दल भेज दिया।   

  • यूपी के दरोगा साहब का ऐलान : कोई मुझे मेरे कुत्ते से मिला दो, 5 हजार रूपये मिलेंगे इनाम

    लखनऊ। साल 2014 में उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री आजम खां की भैंसों को चोर ले उड़े थे। ये चोरी आजम खां के फार्म हाउस से हुई थी। उसे ढ़ूढ़ने के लिए पूरी यूपी की पुलिस ने दिन रात एक कर दिया था। उन भैंसों को ढ़ूढ़ने के लिए प्रदेश के सभी पुलिस थानों को आदेश भेजे गए। छापेमारी का दौर शुरू हुआ। पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच तक के अधिकारी पहुंचे। आजम खां की 7 भैंसे जो चोरी हुई थीं वो उस वक्त किसी सेलिब्रिटी से कम नहीं थीं। लेकिन आखिरकार काफी मशक्कत के बाद आजम की भैंसों को पुलिस ने ढ़ूंढ़ ही निकाला। ये मामला इतना चर्चित हुआ था कि यूपी सरकार सबके लिए हंसी की पात्र बन गई थी।

    लेकिन अब यूपी में ही एक और ऐसा ही मामला सामने आया है। इसबार एक पुलिसवाले का कुत्ता चोरी हो गया है। जालौन जिले में तैनात एक दारोगा का कुत्ता कानपुर में तीन दिन से गायब है। कुत्ते के गायब होने की वजह से दरोगा साबह की पत्नी ने खाना – पानी सबकुछ त्याग दिया है। इतना ही नहीं कुत्ता खोजकर लाने वाले को 5 हजार रूपये का इनाम भी दिया जाएगा। बकायदा उस कुत्ते का पोस्टर छपवाया गया है और ढ़ूढ़कर लानेवाले को 5 हजार का इनाम देने की घोषणा भी की गयी है। दरोगा जी के कुत्ते के गायब होने की रिपोर्ट कानपुर के बर्रा थाना में दर्ज कर ली गई है। अब पुलिस उस कुत्ते को खोजने के लिए जी जान से लग गई है। लापता कुत्ता दरोगा साहब की मेमसाहब के जिगर का टुकड़ा है और तीन दिन से गायब है। गायब हा कुत्ता जर्मन शेफर्ड का है और उसका नाम टाइगर है। अब मामला विभागीय यानि कि पुलिस का होने की वजह से पुलिस ने भी मना नहीं किया और अब प्रयास का हरसंभव आश्वासन भी दिया ।  

    यहां बता दें कि बलिया में तैनात दरोगा का नाम प्रभुनाथ सरोज है और वे कानपुर के निवासी हैं। 2 साल पहले वे अपने घर में एक जर्मन शेफर्ड कुत्ता लेकर आये थे। फिलहाल उनके घर में पेंट का काम चल रहा था और उसी दौरान टाइगर कहीं गायब हो गया। घरवालों को जब पता चला तो उन्होंने खोजबीन की लेकिन उसका कोई पता नहीं चल सका । रातभर पूरा परिवार रोता रहा और ना तो कोई सोया और ना ही कुछ खाया।







  • सोशल मीडिया पर छाए भूकंप के अफवाहों पर ना दें ध्यान, केंद्र सरकार ने शरारती तत्वों पर दिए कार्रवाई के निर्देश

    नई दिल्ली। नेपाल में आए भूकंप के विनाश में 3200 लोगों की मौत हो गयी है और आंकड़ें बढ़ने की भी आशंका जतायी जा रही है। इससे विश्वभर के लोग जहां डरे हुए हैं। लेकिन इन सबके बीच लोग जहां डरे हुए हैं वहीं कुछ शरारती लोग ऐसे हैं कि उन्हें और भी डरा रहे हैं। दरअसल सोशल मीडिया पर इन दिनों  भूकंप के अफवाहों का बाजार गर्म है । खासकर व्हाट्स ऐप पर लोग एक – दूसरे को मैसेज भेज रहे हैं और इससे भूकंप का अफवाह फैल रहा है। इससे लोग अपने घरों को छोड़कर बाहर रह रहे हैं। जिससे परेशानियां बढ़ गयी हैं।  लेकिन प्रशासन की ओर से ये अपील की जा रही है कि आपसब अफवाहों पर ध्यान ना दें। इसके साथ ही कहा गया है कि ऐसे संदेशों को फारवर्ड ना करें। रविवार की रात केंद्र सरकार की ओर से मीडिया को इसे लेकर  अपील जारी की गयी थी। सरकार की ओर से कहा गया है कि भूकंप की अफवाह फैलाने वालों पर कार्रवाई की जायेगी।

    यहां आपको बता दें कि सोशल मीडिया और व्हाट्स ऐप पर नासा और भारतीय मौसम विभाग के हवाले से  इस तरह के मैसेज भेजे जा रहे हैं और उनमें बताया जा रहा है कि अगला भूकंप कब आएगा और इसका समय क्या होगा । सिर्फ इतना ही नहीं इन मैसेज में ये भी लिखा है कि अगला भूकंप और भी भयावह, खतरनाक होगा। यदि आपके पास भी ऐसे मैसैज भेजे जा रहे हैं तो आप अलर्ट हो जायें कि ये सिर्फ आपको डराने और अफवाह फैलाने की कोशिश की जा रही है। कशिश की भी आपसे ये अपील है कि अपने फोन पर आये ऐसे मैसेज को आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को फारवर्ड बिल्कुल ना करें और यदि हो सके तो इसकी शिकायत भी दर्ज करवायें । जिससे ऐसे लोगों पर कार्रवाय़ी हो सके जो समाज में अफवाह फैलाने का काम कर कर रहे हैं।  


  • अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की दादी सारा उमर की अपील, कहा , अब इस्लाम कबूल लें ओबामा

    मक्का। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के मुसलमान होने को लेकर हमेशा से बहस का मुद्दा रहा है। लेकिन अब कुछ ऐसा सामने आया है कि लोगों को आश्चर्य हो रहा है। दरअसल ओबामा की दादी सारा उमर ने अपील की है कि वे अब इस्लाम कबूल कर लें। ओबामा की दादी हाल ही में मुसलमानों के पाक स्थल मक्का गई थीं। वहां उन्होंने अपने पोते ओबामा के लिए इस्लाम कबूल करने के लिए नमाज भी पढ़ी। इस बात से एकबार फिर से ओबामा के मुसलमान होने की चर्चा तेज हो गई है । वहीं रशिया टुडे में छपी उस रिपोर्ट के मुताबिक सारा उमर 90 साल की हैं और वे ओबामा के दादा की तीसरी बीवी हैं । मूल रूप से सारा उमर कीनियाई मूल की हैं  और सारा अपने बेटे और बराक ओबामा के चाचा सईद ओबामा और पोते मूसा ओबामा के साथ मक्का गई थीं।

    वहां से लौटने पर सऊदी अरब के एक अखबार अलवतन से सारा ने बातचीत में बताया कि उन्होंने ओबामा के इस्लाम कबूल करने के लिए नमाज पढी । इसके साथ ही उन्होंने ओबामा को इस्लाम कबूल करने की अपील भी की। यहां आपको बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के पिता ओनयांगू हुसैन ओबामा कीनियाई मुसलमान थे, जबकि उनकी मां एन डनहम अमेरिकी थीं। ओबामा के मुसलमान होने का मुद्दा कई बार उठ चुका है और ओबामा ने इसका खंडन करते हुए खुद के ईसाई होने का दावा कर चुके हैं। लेकिन अमेरिकावासियों में इस बात को लेकर संशय बरकरार है। वैसे साल 2014 में हुए एक सर्वे के मुताबिक ओबामा को अमेरिका के 18 प्रतिशत लोगों ने मुसलमान तो वहीं 34 प्रतिशत लोगों ने ईसाई बताया था ।    


 
LIVE NEWS
BIG NEWS
 
Sail city
..PICTURE GALLERY
 
 
व्यापार
बाजार खुलते ही कारोबार में तेजी, सेंसेक्स 28 हजार के पार तो निफ्टी हुआ 0.25 फीसदी मजबूत

मुंबई। आज बाजार खुलते ही अच्छी शुरूआत हो रही है। अंतर्राष्ट्रीय बाजारों...

बॉलीवुड
राधिका आप्टे का न्यूड वीडियो हुआ वायरल, अनुराग कश्यप ने पुलिस में दर्ज कराया मामला

नई दिल्ली। बॉलीवुड एक्ट्रेस राधिका आप्टे सुर्खियों में हैं । सुर्खियों में आने की वजह उनकी एक तस्वीर है। दरअसल,राधिका की एक न्यूड...

 
क्राइम
 
खेल जगत
PICTURE
आपकी राय
बकौल सचिन ट्वंटी-20 फार्मेट ने क्रिकेट को और रोमांचक बना दिया है. क्या आप सहमत हैं?
 
 
प्रादेशिक
विश्वजगत
 
KASHISH NEWS OTHER SERVICES BE CONECTED   LINKS
© 2015 Kasish News. All rights reserved. Developed By : SAM Softech