Manor-One
  ब्रेकिंग न्यूज़  
  • PMO ने किया मनमोहन सिंह का बचाव, कहा-यूपीए शासन में GDP 3 गुना बढ़ी

    नई दिल्ली : प्रधानमंत्री के पूर्व मीडिया सलाहकार संजय बारू के हानिकारक दावों को खारिज करने के प्रयास में प्रधानमंत्री कार्यालय ने शुक्रवार को दावा किया कि पिछले 10 साल में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व में देश ने अन्य लोकतंत्रों से कहीं बेहतर प्रगति की है और जीडीपी तीन गुना बढ़ी है।

    प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के मीडिया सलाहकार पंकज पचौरी ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘पिछले 10 साल में भारत ने जिस तरह प्रगति की है वैसी कभी किसी अन्य लोकतंत्र में नहीं हुई।’ उन्होंने कहा कि इस सरकार ने गरीबी उन्मूलन के लिए जो कुछ किया किसी अन्य सरकार ने नहीं किया और सड़क तथा रोजगार क्षेत्र में जो प्रगति हुई वैसी किसी अन्य देश में नहीं हुई।

    सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर के बारे में पचौरी ने कहा, ‘पिछले तीन वर्ष में जीडीपी तीन गुना बढ़ी है। न्यूनतम वेतन भी तीन गुना बढ़ा है। यह दर्शाता है कि सरकार लगातार काम करती रही।`

    पचौरी ने हालांकि शिकायत की कि इन उपलब्धियों को मीडिया में जगह नहीं मिली, क्योंकि ‘‘मीडिया की प्राथमिकताएं अलग हैं।’’ यह पूछे जाने पर कि बारू की पुस्तक में किए गए ‘हानिकारक दावों’ के बारे में क्या प्रधानमंत्री कुछ कहेंगे, उन्होंने कहा कि इस बारे में पीएमओ पहले ही बयान जारी कर चुका है। इसके अलावा प्रधानमंत्री का परिवार और कांग्रेस पार्टी भी तथ्यों को रख चुकी है।

    उन्होंने कहा, ``पीएमओ एक नहीं बल्कि दो बार बयान दे चुका है। प्रधानमंत्री के परिवार के सदस्यों ने सार्वजनिक रूप से अपने विचार रखे हैं। प्रधानमंत्री जिस पार्टी से हैं और जिसके नेतृत्व वाली सरकार के वह मुखिया हैं उसने भी इस संबंध में बहुत विस्तृत और सुविचारित बयान दिए हैं। मैं नहीं समझता कि इस संबंध में कुछ नया कहने को है।’’ 

    बारू की पुस्तक ‘‘द एक्सिडेन्टल प्राइम मिनिस्टर : द मेकिंग एंड अनमेकिंग ऑफ मनमोहन सिंह’’, हाल ही में जारी हुई। इसमें प्रधानमंत्री की घातक तस्वीर पेश करते हुए कहा गया है कि वह पद पर हैं लेकिन सत्ता में नहीं और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सारे फैसले करती हैं। पचौरी ने यह भी स्पष्ट किया कि वह कोई पुस्तक नहीं लिखने जा रहे हैं हालांकि उनसे ऐसी किताब लिखने की पेशकश की गई है।

    उन्होंने कहा, ‘‘मुझसे पुस्तक लिखने की पेशकश की गई है लेकिन मैं लिखूंगा नहीं।’’
     
    (एजेंसी)
  • विवाद में फंसे अजित पवार, सुप्रिया सूले को वोट न देने पर जलापूर्ति रोकने की धमकी दी

    पुणे: एक वीडियो के सामने आने के बाद महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ताजा विवाद में फंस गए गए हैं। वीडियो में वह एक गांव के लोगों को धमकी देते हुए दिख रहे हैं कि राकांपा प्रमुख शरद पवार की बेटी और उनकी चचेरी बहन सुप्रिया सूले को वोट नहीं दिया जाता है तो वह गांव की जलापूर्ति काट देंगे।

    बारामती लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार और पूर्व आईपीएस अधिकारी सुरेश खोपड़े ने बडगांव पुलिस थाने में अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि पवार ने 16 अप्रैल को मसलवाड़ी गांव में चुनावी सभा के दौरान ग्रामीणों को धमकी दी। इस कथित वीडियो का टेलीविजन पर प्रसारण हुआ।

    शिकायत में वीडियो का हवाला देकर कहा गया है कि पवार ने सूले के समर्थन में अपने चुनाव प्रचार भाषण में कहा कि ‘यदि इस गांव से कोई व्यक्ति किसी तरह की गड़बड़ी (सूले को वोट देने में विफल रहता है) करता है तो मैं जलापूर्ति काट दूंगा। पवार का यह बयान कथित तौर पर वहां एकत्र ग्रामीणों द्वारा पर्याप्त जलापूर्ति नहीं होने की शिकायत किए जाने के जवाब में आया।

    सहायक पुलिस निरीक्षक विलास भोसले ने बताया कि पुलिस को खोपड़े से शिकायत मिली है, लेकिन उपमुख्यमंत्री के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है।
  • केजरीवाल बोले, विरोध अनपेक्षित नहीं था

    वाराणसी : आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविन्द केजरीवाल के खिलाफ लगातार हो रहे विरोध के मद्देनजर स्थानीय पुलिस ने यहां सुरक्षा प्रबंध और कड़े करने का फैसला किया है तथा 24 घंटे कड़ी निगरानी रखी जा रही है।

    केजरीवाल को आज सुबह यहां कंपनी बाग में उस समय फिर से मोदी समर्थक नारा लगा रहे विरोधियों का सामना करना पड़ा जब वह ‘सुबह की सैर’ बैठक के लिए निकले। विरोध कर रहे लोगों ने प्रधानमंत्री पद के लिए भाजपा के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के समर्थन में ‘हर हर मोदी’ तथा अन्य नारे लगाए। विरोधियों का कहना था कि दिल्ली से भाग कर ‘भगोड़ा’ यहां आया है।

    बहरहाल, केजरीवाल ने विरोध कर रहे लोगों को ‘गलत राह पर चल रहे युवा लड़के’ बताते हुए उन्हें खारिज कर दिया और कहा कि असहमति के लिए गुंजाइश होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस तरह के प्रदर्शन अनपेक्षित नहीं हैं क्योंकि वह ‘देश में सबसे बड़े निहित स्वार्थों’ को चुनौती दे रहे हैं। केजरीवाल ने विरोध कर रहे लड़कों की शिकायतों पर चर्चा के लिए बैठक की पेशकश की।

    वरिष्ठ आप नेता आनंद कुमार ने भी विरोध को ज्यादा तवज्जो नहीं दी और कहा कि यह लोगों का छोटा सा समूह था और पार्टी को किसी बड़े विरोध का सामना नहीं करना पड़ा। वाराणसी में लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में 12 मई को मतदान होगा। केजरीवाल ने इस सीट पर मोदी को चुनौती दी है। 

    केजरीवाल और अन्य आप नेताओं ने लोगों तक पहुंच बनाने के लिए आज एक मार्च भी निकाला। पुलिस ने इसके लिए कड़े प्रबंध किए थे। उनके साथ उन लोगों की भीड़ भी थी जो उनके खिलाफ नारे लगा रहे थे । दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने अपने समर्थकों से शांति बरतने और कोई हिंसा न करने की अपील की ।

    गुरुवार रात आप नेता मोदी के समर्थन में नारे लगा रही एक बड़ी भीड़ के बीच फंस गए थे। वह तभी बाहर निकल पाए जब पुलिस ने विरोध कर रहे लोगों पर हल्का बल प्रयोग किया। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि स्थानीय पुलिस ने आप से कहा है कि वह अपने प्रचार अभियान से संबंधित कार्यक्रम साझा करे, ताकि हर जगह सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जा सकें।

    केजरीवाल हमेशा अपने कार्यक्रम के बारे में बताने से बचते रहे हैं। इसके बावजूद पुलिसकर्मी तथा स्थानीय खुफिया इकाई के अधिकारी केजरीवाल की हर गतिविधि पर करीब से नजर रखे हुए हैं। कई बार केजरीवाल उन्हें चकमा देने में सफल रहे हैं, जिसे उनके सुरक्षा घेरे में तैनात एक कर्मी ने स्वीकार किया।

    वरिष्ठ अधिकारियों ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर कहा कि बीती रात की घटना के लिए भी कुछ हद तक केजरीवाल जिम्मेदार हैं, क्योंकि जब विरोध कर रहे लोग जुटने शुरू हुए तो उन्होंने स्थान छोड़ने से इनकार कर दिया। आप ने जहां इस घटनाक्रम के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया, वहीं भाजपा ने कहा कि उसका इससे कोई लेना-देना नहीं है।
     
    (एजेंसी)
  • चिदंबरम ने भारतीय अर्थव्यवस्था के साथ 'मुठभेड़' किया : नरेंद्र मोदी का पलटवार

    अहमदाबाद: केंद्रीय वित्तमंत्री पी चिदंबरम और भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के बीच जुबानी जंग तेज हो गया है। मोदी ने चिदंबरम पर भारतीय अर्थव्यवस्था के साथ 'मुठभेड़' करने का आरोप लगाया।
     
    उन्होंने चिदंबरम पर इस बार चुनाव से भागने का भी आरोप लगाया। मोदी ने चिदंबरम का नाम लिए बिना कहा, आपके 'मुठभेड़ मंत्री' ने चुनाव लड़ने का साहस खो दिया है...जिन्होंने (भारतीय) अर्थव्यवस्था के साथ मुठभेड़ किया।

    मोदी ने 3 डी होलोग्राफिक प्रोजेक्शन प्रसारण के जरिये करीब 100 रैलियों को संबोधित करते हुए कहा, मंत्री जिसने चुनाव जीतने के लिए पुनर्मतगणना का सहारा लिया था, अब वह जानता है कि पुनर्मतगणना से भी मदद नहीं मिलेगी, इसलिए उसने जंग के मैदान से भागने का फैसला किया है।
     
    एजेंसी
  • चुनाव आयोग ने अमित शाह को उत्तर प्रदेश में प्रचार करने की इजाजत दी

    नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने आज भाजपा नेता अमित शाह के उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव में प्रचार करने पर लगी रोक को हटा लिया। इससे पहले शाह ने भरोसा दिलाया कि वह लोक शांति और कानून-व्यवस्था को बाधित नहीं करेंगे।

    आयोग ने एक आदेश में कहा कि शाह को जनसभाएं करने, रैलियां निकालने और रोड शो करने तथा जुलूस निकालने की इजाजत दी गई है।

    भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के निकट सहयोगी शाह के लिए यह बड़ी राहत है, क्योंकि वह उत्तर प्रदेश में भाजपा के प्रभारी हैं।

    चुनाव आयोग ने ‘बदला लेने वाले’ शाह के विवादास्पद बयान के कारण उनके चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी। उनके साथ सपा के नेता और उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री आजम खान के चुनाव प्रचार करने पर रोक लगाई गई थी।

    आयोग ने अपने आदेश में कहा, 'आपने अपने हलफनामे में कहा है कि आप शपथ लेते हैं कि मैं प्रचार के दौरान कोई आपत्तिजनक अथवा अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल नहीं करूंगा और किसी भी तरह से आचार संहिता का उल्लंघन नहीं करूंगा।'
     
    गौरतलब है कि भड़काऊ भाषण देने के बाद आयोग ने शाह की चुनावी रैलियों और भाषण पर रोक लगा दी थी। इसके साथ ही अखिलेश सरकार में मंत्री आजम खान की रैलियों पर भी रोक लगा दी गई थी। सूत्रों के मुताबिक आजम खान को अभी यह राहत नहीं दी गई है।

    इन दोनों नेताओं ने ही भड़काऊ भाषण दिए थे, जिनकी चुनाव आयोग से शिकायत की गई थी। दोनों के भाषणों की जांच करने के बाद आयोग ने इनके रैली करने पर प्रतिबंध लगाने के साथ-साथ एफआईआर दर्ज करने का भी आदेश दिया था।
     
    एजेंसी
 
LIVE NEWS
BIG NEWS
 
Sail city
..PICTURE GALLERY
 
 
व्यापार
टेलीकॉम कंपनियों की ऑडिटिंग कर सकता है कैग : सुप्रीम कोर्ट
नई दिल्ली: सर्वोच्च न्यायालय ने गुरुवार को कहा कि नियंत्रण एवं महालेखा परीक्षक (कैग) टेलीकॉम कंपनियों की ऑडिटिंग कर सकता है। सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति केएस राधाकृष्णन की पीठ ने दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले को...
बॉलीवुड
बॉक्स ऑफिस पर हिट हुई 'भूतनाथ रिटर्न्स

मुंबई : बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन की फिल्म 'भूतनाथ रिटर्न्स' बॉक्स ऑफिस पर हिट हो गयी है।

अमिताभ बच्चन की फिल्म...
 
खेल जगत
PICTURE
आपकी राय
बकौल सचिन ट्वंटी-20 फार्मेट ने क्रिकेट को और रोमांचक बना दिया है. क्या आप सहमत हैं?
 
 
प्रादेशिक
विश्वजगत
 
KASHISH NEWS OTHER SERVICES BE CONECTED   LINKS
© 2014 Kasish News. All rights reserved. Developed By : SAM Softech