ब्रेकिंग न्यूज़  
  • नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द: जेडीयू और एआईएडीएमके को दो-दो सीटें मिलने की संभावना

    नई दिल्ली- नरेंद्र मोदी सरकार में इस हफ्ते कैबिनेट में फेरबदल और विस्तार होने की संभावना है. सूत्रों के मुताबिक यह विस्तार इसी हफ्ते संभव है. सूत्रों का कहना है कि इस कड़ी में बीजेपी के कुछ मंत्रियों को अपने पद से हाथ धोना पड़ सकता है. माना जा रहा है कि इस विस्तार में जेडीयू और एआईएडीएमके नेताओं को मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है. उल्‍लेखनीय है कि हाल ही में नीतीश कुमार की जेडीयू ने फिर से बीजेपी के साथ नाता जोड़ते हुए बीजेपी के नेतृत्‍व वाले एनडीए में शामिल होने की घोषणा की है. सूत्रों का यहां तक कहना है कि इस विस्तार में दो-दो जेडीयू और एआईएडीएमके से मंत्री बनाए जा सकते हैं. 

    उधर, चेन्नई में एआईएडीएमके के पनीरसेल्‍वम और पलानीस्‍वामी गुट के बीच समझौता हो गया है. पनीरसेल्वम को राज्य में उपमुख्यमंत्री बनाया जाएगा. खबरें हैं कि एकजुट होने के बाद इस पार्टी के भी एनडीए में शामिल होने की उम्‍मीद है. इस आधार पर कहा जा रहा है कि एआईएडीएमके से किन्हीं दो को मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है.

  • तीन तलाक पर आ गई फैसले की घड़ी, शीर्ष अदालत का आएगा 'सुप्रीम' फैसला

    नई दिल्ली- तीन तलाक के मुद्दे पर मंगलवार का दिन बेहद अहम रहनेवाला है।  सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय खंडपीठ तीन तलाक के मुद्दे पर अपना अहम फैसला दे सकता है। इस खंड पीठ में सभी धर्मों के जस्टिस शामिल हैं जिनमें चीफ जस्टिस जेएस खेहर (सिख), जस्टिस कुरियन जोसफ (क्रिश्चिएन), जस्टिस रोहिंग्टन एफ नरीमन (पारसी), जस्टिस यूयू ललित (हिंदू) और जस्टिस अब्दुल नजीर (मुस्लिम) शामिल हैं। इस मामले पर शीर्ष अदालत में 11 से 18 मई तक सुनवाई चली थी जिसमें मुस्लिम समुदाय में चल रही प्रथा तीन तलाक, निकाह हलाला और बहुविवाह की वैधानिकता को चुनौती देनेवाली याचिका पर सुनावई हुई।

    तीन तलाक की वैधानिकता पर सुप्रीम फैसला
    तीन तलाक पर सुनवाई इस मायने में बेहद अहम रही क्योंकि उच्चतम अदालत ने इस मुद्दे पर गर्मियों की छुट्टी के दौरान भी सुनवाई जारी रखी। सुप्रीम कोर्ट का तीन तलाक पर फैसला इसलिए भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि अप्रैल के आखिरी हफ्ते में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अपने फैसले में तीन तलाक को एकतरफा और कानून के अनुरूप नहीं बताया था।

    इलाहाबाद हाईकोर्ट ने तीन तलाक को बताया था एकतरफा
    इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अकील जमील की उस याचिका को खारिज करते हुए यह फैसला सुनाया था जिसमें उसकी पत्नी ने अकील के खिलाफ आपराधिक शिकायत दर्ज किया था। उसने अपने पति अकील पर दहेज के लिए मारपीट करने और जब मांगें पूरी ना होने पर तीन तलाक देने के चलते केस दर्ज किया था।

    सुप्रीम कोर्ट ने कहा था- तीन तलाक की वैधानिकता पर होगा फैसला
    सुप्रीम कोर्ट ने इससे पहले कहा था वह मुस्लिमों में चल रहे तीन तलाक, निकाह हलाल और बहु विवाह की वैधानिकता से संबंधित मुद्दों पर फैसला करेगा। उधर, सुप्रीम कोर्ट में अपनी ओर से दिए गए हलफनामे में केंद्र सरकार ने कहा था कि वह तीन तलाक की प्रथा को वैध नहीं मानती और इसे जारी रखने के पक्ष में नहीं है। अदालत में सुनवाई के दौरान ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) ने माना था कि वे सभी काजियों को एडवाइजरी जारी करेगा ताकि वे ट्रिपल तलाक पर न केवल महिलाओं की राय लें, बल्कि उसे निकाहनामे में शामिल भी करें। अब सबकी नजरें सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर टिकी हुई हैं।

    शीर्ष अदालत ने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से किया था सवाल

    इससे पहले 18 मई को सुनवाई के आखिरी दिन शीर्ष अदालत ने ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से पूछा था कि क्या निकाह के समय 'निकाहनामा' में महिला को तीन तलाक के लिए 'ना' कहने का विकल्प दिया जा सकता है? चीफ जस्टिस खेहर ने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के वकील कपिल सिब्बल से पूछा- क्या ये संभव है कि किसी महिला को निकाह के समय ये अधिकार दिया जाए कि वह तीन तलाक को स्वीकार नहीं करेगी? कोर्ट ने पूछा कि क्या एआईएमपीएलबी सभी काजियों को निर्देश जारी कर सकता है कि वे निकाहनामा में तीन तलाक पर महिला की मर्जी को भी शामिल करें।

    अटॉर्नी जनरल ने SC से कहा- निरस्त होने पर केन्द्र लाएगा नया कानून

    अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने चीफ जस्टिस जगदीश सिंह खेहर की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ से सुनवाई के दौरान कहा था, 'अगर शीर्ष अदालत तुरंत तीन तलाक के तरीके को निरस्त कर देती है तो केंद्र सरकार मुस्लिम समुदाय के बीच शादी और तलाक के नियमन के लिए एक कानून लाएगी।' मुकुल रोहतगी ने ये बातें तब कही, जब अदालत ने उनसे पूछा कि अगर तीन तलाक के तरीके निरस्त कर दिए जाएं तो शादी से निकलने के लिए किसी मुस्लिम मर्द के पास क्या तरीका होगा?  

    क्या है पूरा मामला
    दरअसल, मार्च 2016 में उतराखंड की शायरा बानो नामक मुस्लिम महिला ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करके तीन तलाक, हलाला निकाह और बहु-विवाह की व्यवस्था को असंवैधानिक घोषित किए जाने की मांग की थी। बानो ने मुस्लिम पर्सनल लॉ (शरीयत) एप्लीकेशन कानून 1937 की धारा 2 की संवैधानिकता को चुनौती दी है। कोर्ट में दाखिल याचिका में शायरा ने कहा है कि मुस्लिम महिलाओं के हाथ बंधे होते हैं और उन पर तलाक की तलवार लटकती रहती है। वहीं पति के पास निर्विवाद रूप से अधिकार होते हैं। यह भेदभाव और असमानता एकतरफा तीन बार तलाक के तौर पर सामने आती है। अब पूरे देश की निगाह तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के आनवाले फैसले पर टिकी हुई है।

  • रांची : 50 रुपये थे कम, मासूम की गयी जान, मंत्री ने कहा - खबर छापने वालों को चंदा कर दे देना चाहिए

    रांची - झारखंड में हर रोज स्वास्थ्य सुविधाओं की बदहाली के नये उदाहरण सामने आ रहे हैं. कल रिम्स में एक मासूम की जान सिर्फ इस वजह से चली गयी कि उसके पास 50 रुपये कम थे. बताया जा रहा है कि डॉक्टरों ने बच्चे को सीटी स्कैन कराने की सलाह दी थी. पिता के पास 50 रुपये कम होने के कारण एक साल के मासूम श्याम का सीटी स्कैन नहीं हो पाया था. इस कारण उसका इलाज शुरू नहीं हो सका. बेबस पिता संतोष कुमार अपने बच्चे को बचाने के लिए डॉक्टर और जांच घर के चक्कर लगाता रहा. पर वह अपने मासूम बच्चे को नहीं बचा पाया. आखिरकार उचित इलाज के अभाव में श्याम की मौत हो गयी. घटना रविवार की है. उधर इस घटना को लेकर जब स्वास्थ्य मंत्री से यह सवालू पूछा तो उन्होंने जवाब दिया - खबर छापने वालों को चंदा कर 50 रुपये देना चाहिए ताकि उसका इलाज संभव हो पाता. 

  • लालू परिवार पर गहराई मुसीबत, CBI और IT ने कसा शिकंजा

    पटना- राजद अध्यक्ष लालू यादव के परिवार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। एक ओर जहां सीबीआइ लालू के छोटे पुत्र तेजस्वी यादव से रेल होटल घोटाला मामले में पूछताछ करेगी तो वहीं उनकी पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, बेटी मीसा भारती, दामाद शैलेष यादव और चंदा यादव से आय से अधिक संपत्ति मामले में पूछताछ करेगी।

    सीबीआइ रेल होटल घोटाला मामले की जांच कर रही है और उसमें तेजस्वी यादव का नाम भी शामिल है जिससे सीबीआइ उनसे पूछताछ करेगी तो वहीं आयकर विभाग आय से अधिक संपत्ति में राबड़ी, मीसा, शैलेष और चंदा यादव से भी पूछताछ करेगी। 

    रेलवे होटल की निविदा में हुए घोटाला मामले में सीबीअाइ की जांच में कथित अनियमितताओं में तेजस्वी की संलिप्तता की संबंधित जांच की गई और इस मामले पर सीबीआइ अब जांच को आगे बढाएगी।

    बता दें कि 2006 में रांची और पुरी में रेलवे के होटल में निजी कंपनी के विकास, रखरखाव और संचालन के लिए निविदाएं आवंटित की गईं जिसमें लालू यादव ने उसके बदले मे जमीन लिया था। लालू प्रसाद यादव 2006 में रेल मंत्री थे और उसी समय में टेंडर में अनियमितताएं सामने आईं थीं।

    एजेंसी के सूत्रों ने बताया है कि इस मामले के सिलसिले में पूछताछ के लिए एजेंसी तेजस्वी यादव समेत सभी अभियुक्तों को जल्द ही बुलाने का आदेश देगी। इस महीने के अंत तक अभियुक्त को सम्मन भेजा जा सकता है।

    इसके साथ ही आयकर विभाग ने आय से अधिक संपत्ति मामले में नोटिस जारी कर मीसा और उनके पति शैलेष कुमार के साथ ही चंदा यादव से भी पूछताछ करेगा। इन सबसे दिल्ली में पूछताछ की जाएगी, वहीं तेजस्वी यादव और राबड़ी देवी से पटना में पूछताछ होगी।

  • सृजन घोटाला: राबड़ी ने कहा- नीतीश-सुशील मोदी इस्तीफा दें, नहीं तो सुप्रीम कोर्ट जाएंगे

    पटना- सृजन घोटाला मामले को लेकर बिहार की राजनीति में उफान जारी है। राजद अध्यक्ष लालू की पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा कि ये घोटाला नहीं बल्कि महाघोटाला है। उन्होंने कहा कि नीतीश को सब पता था लेकिन उन्होंने किसी पर कोई कार्रवाई नहीं की और घोटाला होता रहा।

    राबड़ी ने चेतावनी देते हुए कहा कि घोटाले में शामिल नीतीश और सुशील मोदी को इस्तीफा देना होगा। उन्होंने कहा कि इस घोटाले के खिलाफ हम सुप्रीम कोर्ट तक जाएंगे और घोटाले को उजागर करेंगे। आज विधानसभा के मानसून सत्र के पहले दिन विधानसभा के बाहर सृजन घोटाले को लेकर राजद ने प्रदर्शन किया और नारेबाजी की। 

    आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव ने भी कल सृजन घोटाले को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी पर तीखा हमला किया था। लालू ने कई गंभीर आरोप लगाते हुए दोनों नेताओं से कई तीखे सवाल पूछे थे।

 
LIVE NEWS
 
new scity
KASHISH NEWS PROGRAMMES
kashish News Programmes...
 
 
 
व्यापार
SBI चीफ अरुंधति भट्टाचार्य की सैलरी जानते हैं आप? उनका वेतन सुन चौंक जाएंगे

नई दिल्ली: दुनिया के 50 सबसे बड़े बैंकों में शामिल और देश...

बॉलीवुड
ट्विंकल ने शुरू कर दी है टॉयलेट एक प्रेम कथा-2 की तैयारी, देखें PHOTO

अभी तक तो अक्षय और भूमि पेडनेकर की टॉयलेट एक प्रेम कथा का पहला पार्ट ही सुर्खियां...

 
खेल जगत
..PICTURE GALLERY
आपकी राय
क्या बाढ़ में लोगों तक राहत बचाव सामग्री पहुंच रही है ?
 
 
प्रादेशिक
विश्वजगत
 
Facebook Like
जरुर देखें
KASHISH NEWS OTHER SERVICES BE CONECTED   LINKS
© 2017 Kasish News. All rights reserved. Developed By : SAM Softech